विभाग के प्राथमिकता के कार्यक्रम एवं परिसंपत्तियां

   

2020-21 के प्रमुख कार्यक्रम

ग्रामीण खेल

  • प्रत्येक विकास खंड एवं जनपद स्तर पर ग्रामीण खेल प्रतियोगिता ( जिला योजना )  में प्राप्त धनराशि रू0-250.00  लाख से 05  विधाओं  एथलेटिक्स, वालीबांल, कबडडी, भारोत्तोलन एवं कुश्त में प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है उक्त  के अतिरिक्त रू0-42.50  लाख की धनराशि से रू0-30000/-  प्रति जनपद की दर से मण्डल स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन तथा रू0-20.00  लाख की धनराशि से राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन कराये जाने सम्बन्धी कार्यवाही की जा रही है

  • प्रदेश में विभाग द्वारा 81 स्थानों पर ग्रामीण स्टेडियम की स्थापना की गयी है तथा 20 नए स्थानों पर मा० मुख्यमंत्री जी की घोषणा के क्रम में रू0-2500.00  लाख की धनराशि से ग्रामीण स्टेडियम एवं ओपेन जिम का निर्माण कराया जा रहा है

  • युवा कल्याण विभाग में खेलो इण्डिया योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में खेल अवस्थापना के सृजन से सम्बन्धित 19 प्रस्ताव भारत सरकार द्वारा स्वीकृत किये गए हैं, जिनमें से 02 स्थानों पर भूमि विवादित होने के कारण धनराशि वापस की गयी है 17 स्थानों पर निर्माण की कार्यवाही प्रचलित है

  • मनरेगा योजना के माध्यम से ग्राम पंचायत स्तरीय खेल मैदान को संचालित कराये जाने सम्बन्धी कार्यवाही प्रचलित है

युवा कार्यक्रम

  • युवक एवं महिला मंगल दल का ग्रामीण स्तर पर गठन गठित युवक एवं महिला मंगल दलों को खेल प्रतियोगिताओं में सहभागिता, खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन, सामाजिक व़क्षारोपण, रक्तदान, स्वच्छता कार्यक्रम, नशामुक्ति, राष्ट्रीय एकीकरण तथा अन्य कार्य-जैविक खेती, जनसंख्या नियंत्रण, जल संरक्षण,सौर उर्जा संयंत्रो के उपयोग, सम्पूर्ण साक्षरता, आपदा प्रबंधन,  राष्ट्रीय टीकाकरण, राष्ट्रीय मतदाता दिवस, संसामायिक महत्वपूर्ण कार्यो में सहभागिता सुनिश्चित कराना

  •  नए गठित दलों को रू0-2500.00  लाख की धनराशि से रू0 10000/-  प्रति दल की दर से 25000 दलों को प्रोत्साहन सामग्री देना

  • विवेकानन्द यूथ एवार्ड  योजना  के अंतर्गत  सर्वश्रेष्ठ युवक मंगल दलों एवं महिला मंगल दलों को राज्य स्तर पर 03 युवक एवं 03 महिला मंगल दलों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय को क्रमशः रू0 100000/-, 50000/-,25000/-   जनपद  स्तर पर 01 युवक एवं 01 महिला मंगल दल को रू0 10000/- विकास खंड स्तर पर 01 युवक एवं 01 महिला मंगल दल को रू0 3000/-  की धनराशि से पुरस्क़त किया जाना है इस हेतु रू0 68.06  लाख की धनराशि की व्यवस्था है

  • विवेकानन्द यूथ एवार्ड  योजना के अंतर्गत ही व्यक्तिगत श्रेणी  हेतु पुरुस्कार प्रदान किये जाने के क्रम में प्रदेश में 10 युवाओं को रू0 50000 प्रति युवा एवं स्मृति चिन्ह शाल एवं प्रशस्तिपत्र दिए जाने की व्यवस्था है इस हेतु रू0 6.00  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

  • युवा नेत़त्व प्रशिक्षण शिविर के अंतर्गत राज्य स्तर पर 150 युवाओं हेतु 03 दिन का आवासीय प्रशिक्षण दिया जाना है इस हेतु रू0 10.00  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

  • सांस्क़ृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद स्तर पर रू0 40000 की दर से, तथा मण्डल स्तर पर रू0 20000 प्रति जनपद की दर से कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाना है इस हेतु रू0 45.00  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

  •  राज्य स्तर पर राज्य स्तरीय युवा उत्सव  का आयोजन कराया जाता है इस हेतु रू0 20.00  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

प्रान्तीय रक्षक दल

  • प्रान्तीय रक्षक दल के अंतर्गत वर्तमान में एनरोल्ड 43989 जवानों में से 28510 जवान सक्रिय है जिनमे से विभागीय बजट के अंतर्गत 11346 एवं अन्य विभागों /संस्थानों के बजट से 6491 जवान सहित कुल 17837 जवानों की ड्यूटी लगाई गयी है

  • प्रान्तीय रक्षक दल के जवानों को 375/- प्रतिदिन की दर से ड्यूटी भत्ते का भुगतान किया जाता है इस हेतु विभागीय बजट के अंतर्गत रूपया 15000.00  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्रान्तीय रक्षक दल के जवानों को बैंड, वर्दी एवं प्रशिक्षण हेतु रू0 10.00 लाख, प्रान्तीय रक्षक दल स्थापना दिवस समारोह हेतु रू0 16.25  लाख तथा प्रान्तीय रक्षक दल के जवानों को मासिक परेड एवं मार्ग व्यय हेतु रू0 32.19  लाख की धनराशि की व्यवस्था की गयी है

 

 

विभाग के प्रमुख स्तम्भ एवं परिसंपत्तियां

 

1.युवक एवं महिला मंगल दल

२. प्रांतीय रक्षक दल के जवान (जनपदवार)

३.विभाग में निर्मित एवं निर्माणाधीन ग्रामीण स्टेडियम

4.भारत सरकार की खेलो इंडिया योजना अंतर्गत निर्माणाधीन खेल अवसंरचना

5.विभाग में निर्मित युवा केंद्र एवं विभागीय भवन

6. विभाग में पूर्व में स्थापित शहरी व्यायामशाला